May 132020
 

किसानों को मिलेगी 12000 रुपये की पेंशन आइए जान लेते हैं उत्तराखंड किसान पेंशन योजना आवेदन प्रक्रिया Uttarakhand Kisan Pension Yojana Application Form PDF Download Online at socialwelfare.uk.gov.in, List, Eligibility, Documents

महामारी कोविड-19 जिस तरह से अपने पैर भारत में पसार रही है उस हालात को देखते हुए 17 मई तक देशव्यापी तालाबंदी कर दिया गया। जिसके बाद सबसे दयनीय स्थिति किसान और गरीब व्यक्तियों की है जो ना तो खेती कर सकते हैं और ना ही मजदूरी करके पैसा कमा सकते हैं। हालांकि सरकार उनकी परिस्थिति को सुधारने के लिए निरंतर प्रयास कर रही है परंतु फिर भी बहुत सारे ऐसे सामयिक और किसान हैं जिन तक अभी राहत योजना के तहत कोई भी लाभ नहीं पहुंच पा रहा है। सरकार द्वारा एक और योजना लेकर किसानों की हालत में सुधार करने की कोशिश की जा रही है और इस योजना को नाम दिया गया है किसान पेंशन योजना।

Uttarakhand Kisan Pension Yojana

क्या है किसान पेंशन योजना?

देश के किसान जिनकी वजह से हमारी प्लेट में विभिन्न प्रकार के भोजन आप आते हैं उन्हें सशक्त बनाने का प्रयास सरकार द्वारा किया जा रहा है। यह पहल उत्तराखंड सरकार द्वारा की गई है जो उत्तराखंड के किसानों को किसान पेंशन योजना के तहत लाभ प्रदान करने जा रही है। इस योजना के तहत उन्हें प्रतिमाह एक निश्चित राशि के रूप में पेंशन दी जाएगी।

60 साल का हो चुका किसान प्रतिमाह प्राप्त कर सकता है हजार रुपए की राशि

इस पेंशन योजना के तहत उत्तराखंड की उन किसानों को प्राथमिकता दी गई है जो पहले से ही 60 वर्ष के हो चुके हैं। उन किसानों को उत्तराखंड सरकार द्वारा 1000 रुपये प्रति माह पेंशन के तौर पर प्रदान किए जाने हैं। यह योजना उत्तराखंड सरकार के समाज कल्याण विभाग की तरफ से जारी की गई है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा इस वित्तीय वर्ष साल 2020-21 की पहली तिमाही के दौरान 7.65 करोड़ की राशि जारी कर दी गई है। हालांकि इस योजना के तहत अब तक 25,397 लाभार्थी लाभ अपने बैंक खाते के अंदर प्राप्त भी कर चुके हैं।

किसान पेंशन योजना से लाभ प्राप्त करने की शर्तें

हालांकि यह योजना सरकार ने लागू तो 60 वर्ष से अधिक व्यक्तियों के लिए ही की है परंतु इसके अंदर कुछ शर्तें भी सरकार द्वारा रखी गई है। जिसमें सरकार द्वारा बताया गया है कि किसान किसी भी लिंग का अथवा महिला या पुरुष कोई भी हो सकता है परंतु सबसे मुख्य बात यह है कि उसकी आयु 60 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। और दूसरी मुख्य बात यह है कि वह किसान अपनी स्वयं की 2 हेक्टेयर भूमि पर खेती करता हो।

किसान पेंशन योजना के लिए आवेदन कैसे करें

सरकार द्वारा किसानों के लिए जारी की गई इस योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया भी बहुत सरल रखी गई है। आइए इस प्रक्रिया को क्रमबद्ध तरीके से समझ लेते हैं:-

  • इस योजना में आवेदन के लिए एक स्टांप पेपर की आवश्यकता होती है जो आपकी जमीन का एक शपथ पत्र भी हो सकता है।
  • उसके बात किसान के पास अपना एक खाता चाहे वह बैंक में हो या डाकघर में उसकी संख्या भी उन्हें पता होनी चाहिए।
  • तत्पश्चात आपको अपने दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र प्राप्त करने के लिए दिए गए लिंक https://social welfare.uk.gov.in/files/g-kishan_pension.pdf पर जाकर क्या करना होगा।
  • उस काम में आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर, आधार कार्ड नंबर, वोटर आईडी नंबर, जमीन के स्वामित्व के दस्तावेज के साथ साथ सभी आवश्यक दस्तावेज लगाने होंगे।
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद तुरंत आपको सामने फॉर्म नजर आएगा उस फॉर्म में आपसे जो भी पूछा जाएगा जैसे आपका नाम, आधार कार्ड नंबर आदि आवश्यक जानकारियां वह आपको सही-सही भर नहीं होगी।
  • जब आप पूरी तरह से अपना फॉर्म भर लेंगे तब आपको ग्राम पंचायत विकास अधिकारी और ग्राम प्रधान से अपने फॉर्म पर हस्ताक्षर कराने होंगे।
  • तत्पश्चात आपके फॉर्म का सत्यापन करने के लिए आपका फॉर्म महा निरीक्षक बागवानी कृषि और जिला बागवानी अधिकारी या फिर मुख्य कृषि अधिकारी के पास भेज दिया जाएगा।
  • फॉर्म से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप ग्राम पंचायत या तहसील अधिकारी के पास जा सकते हैं।

किसान पेंशन योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आपके खाते की संख्या चाहे वह आपके बैंक में हो या डाकघर में
  • आपका आधार कार्ड नंबर
  • वोटर आईडी कार्ड
  • आपकी जमीन के स्वामित्व के दस्तावेज

उत्तराखंड सरकार द्वारा आरंभ की गई इस योजना के चलते उत्तराखंड में मौजूद बहुत सारे किसान लाभ प्राप्त करके अपनी जीविका को और बेहतर बना सकते हैं।

अन्य पढ़े

 Posted by at 3:21 am

 Leave a Reply

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

(required)

(required)