Apr 152020
 

अटल पेंशन सब्सक्राइबर को राहत, 30 जून 2020 तक नहीं कटेगा अंशदान – कोरोना वायरस अलर्ट (PFRDA stops auto debit of contributions (Premium amount under Atal Pension Yojana)

प्रधानमंत्री मोदी जी ने कुछ साल पहले देश के आर्थिक रूप से कमजोर ऐसे लोग जोकि पिछड़े वर्ग से संबंध रखते हैं उनके लिए एक योजना की शुरुआत की थी. जिसका नाम था अटल पेंशन योजना. इस योजना में हर महीने लाभार्थी को उनकी 60 साल की उम्र बीत जाने के बाद 5000 रूपये तक की पेंशन राशि मिलती हैं. लेकिन इसके लिए उन्हें कुछ अंशदान (प्रीमियम) करना होता है. किन्तु हालही में कोरोनावायरस के चलते देश में सभी राज्यों, जिलों, गांवों एवं मोहल्लों को बंद कर दिया गया हैं, और सभी को घर के अंदर रहने के लिए कहा गया हैं. ऐसे में जो गरीब हैं उन्हें काम नहीं मिलने की वजह से काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

Half Yearly Premium Plans for Atal Pension Yojana

सबसे बड़ी परेशानी उनकी पैसों एवं खाने – पीने की है. इसलिए पेंशन फण्ड रेगुलेटरी एवं डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) ने यह फैसला किया है कि वे अटल पेंशन योजना के लाभार्थियों के बचत खाते से हर महीने कटने वाले पैसे यानि उनके अंशदान (प्रीमियम राशी) पर अभी रोक लगा रहे हैं.

इसे आप इस तरह से समझ सकते हैं कि लाभार्थियों के खाते से ऑटो डेबिट सुविधा के माध्यम से कटने वाले अंशदान की जो सुविधा थी, उसे आने वाले 30 जून 2020 तक के लिए बंद किया जा रहा है. इसका मतलब यह है कि अटल पेंशन योजना में लाभार्थियों की ओर से जो पैसा निवेश का योगदान किया जाता था, अब उन पैसों को लाभार्थी के बचत खाते से नहीं काटा जायेगा. यह सुविधा 30 जून तक के लिए पूरी तरह से बंद की जा रही है.

पीएफआरडीए का कहना है कि अटल पेंशन योजना से जुड़ने वाले जो सब्सक्राइबर्स है वे अधिकतर निम्न वर्ग से संबंध रखते हैं. ऐसे में कोरोना वायरस के प्रकोप से देश में आर्थिक संकट से ये गरीब लोग ही जूझ रहे है. ऐसे में इस तरह का कदम उठाना बहुत ही आवश्यक था. पीएफआरडीए का यह भी कहना है कि अब इस योजना के सब्सक्राइबर अपने एपीवाई खाते में जब नॉन – डिडक्टेड एपीवाई योगदान को रेगुलर एपीवाई योगदान के साथ 1 जुलाई से 30 सितंबर के बीच जमा करेंगे, तो पैसे जमा करने में देरी के लिए उनसे जो ब्याज वसूला जाता था, अब वह नहीं वसूला जायेगा.

इसके अलावा जब कोरोनावायरस के चलते देश में लॉकडाउन लगाने की घोषणा की गई थी. उससे पहले ही पीएफआरडीए ने यह घोषणा कर दी थी कि यदि लाभार्थी को अपनी या अपने परिवार के किसी सदस्य जैसे पति या पत्नी या अभिभावक या बच्चों की किसी बीमारी के ईलाज के लिए पैसों की आवश्यकता होती हैं, तो वे अपने अटल पेंशन योजना वाले बचत खाते से पैसे निकाल सकते हैं.

Other links –

 Posted by at 10:17 am

 Leave a Reply

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

(required)

(required)