Jan 152020
 

बेटी है अनमोल योजना हिमाचल प्रदेश 2020 (Beti Hai Anmol Yojana Himachal Pradesh in Hindi) (पात्रता, आवेदन फॉर्म, कब शुरू हुई, फॉर्म डाउनलोड) (Application Form Downloan Online, Eligibility, Scholarship Amount, How to register)

हिमाचल प्रदेश सरकार ने अपने राज्य में छोटी बच्चियों के लिए एक योजना को शुरू किया है जिसका नाम है ‘बेटी है अनमोल योजना’. इस योजना के तहत राज्य सरकार बच्चियों की शिक्षा के लिए उन्हें सहायता एवं छात्रवृत्ति प्रदान करती है. इस योजना को कब शुरू किया गया एवं इस योजना में क्या – क्या पात्रताएं निर्धारित की गई है यह सब कुछ आप हमारे इस लेख में देख सकते हैं.

Beti Hai Anmol Yojana Himachal Pradesh in Hindi

लांच की जानकारी

योजना का नाम

बेटी है अनमोल योजना

राज्य

हिमाचल प्रदेश

लांच

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी द्वारा

लांच की तारीख

सन 2018 – 19 में

लाभार्थी

गरीब छात्राएं

संबंधित विभाग

महिला एवं बाल विकास विभाग

टोल फ्री नंबर

1800-180-8076

सुकन्या योजना के द्वारा करे बेटियों का भविष्य सुरक्षित. अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

बेटी है अनमोल योजना की विशेषताएं

  • छात्राओं को शिक्षा के लिए प्रोत्साहन :- इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य ही छोटी छात्राओं को शिक्षा के लिए प्रोत्साहन करने का है, ताकि वे शिक्षित होकर खुद की एक पहचान बना सकें, और अपने परिवार का पालन पोषण भी कर सकें.
  • आर्थिक तंगी से छुटकारा :- ऐसे परिवार जोकि आर्थिक तंगी के चलते अपनी बेटियों को शिक्षा नहीं दिलाते, इस योजना में उन परिवार की बेटियों को उनकी शिक्षा पूरी करने के लिए सहायता राशि एवं छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है.
  • सहायता राशि :- इस योजना में लाभार्थी बच्चियों को दी जाने वाली सहायता राशि के रूप में उन्हें 12 हजार रूपये तक दिए जायेंगे. पहले इस योजना में अधिकतम 10 हजार रूपये दिए जाते थे. किन्तु अब इस राशि को बढ़ा दिया गया है.
  • छात्रवृत्ति के रूप में :- इस योजना में छात्राएं जोकि कक्षा 1 से 12 तक की पढ़ाई कर रही हैं, उन्हें 300 से 1500 रूपये प्रतिमाह छात्रवृत्ति स्वरुप प्रदान किये जाते हैं.
  • उच्च शिक्षा के लिए :- ऐसी छात्राएं जोकि 12 वीं की पढ़ाई के बाद आगे की पढ़ाई कर रही है, जैसे बीएड या बीटेक या एलएलबी या एमबीबीएस या अन्य किसी कोर्स को कर रही हैं, तो उन्हें भी इस योजना के तहत सहायता राशि के रूप में सालाना 5000 रूपये प्रदान किये जाते हैं.
  • अन्य खर्च :- इस योजना के अंतर्गत छात्राओं को उनकी पुस्तकें, स्कूल ड्रेस एवं अन्य चीजें खरीदने के लिए भी राज्य सरकार द्वारा मदद की जाती है. अर्थात उनकी शिक्षा से जुड़ा पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा ही उठाया जाता है.
  • पोस्ट ऑफिस या बैंक खाते में राशि :- इस योजना में दी जाने वाली वित्तीय सहायता जोकि अब 12 हजार रूपये हैं, यह राशि का एक एफडी बनाया जाता है. और जब लाभार्थी छात्राएं बालिग हो जाती हैं तब उनके नाम से उनके पोस्ट ऑफिस या बैंक में खुले हुए खाते में यह राशि जमा कर दी जाती हैं.

बेटी है अनमोल योजना में पात्रता मापदंड

  • हिमाचल प्रदेश की मूल निवासी :- ऐसी बच्चियां जिन्होंने हिमाचल प्रदेश की सीमा के अंदर जन्म लिया हैं, और उसका परिवार यही का मूल निवासी हैं तो उन्हें इस योजना में शामिल गया है.
  • बीपीएल श्रेणी की बच्चियां :- इस योजना में ऐसे परिवार की बच्चियां जोकि गरीबी रेखा से नीचे की श्रेणी से संबंध रखती है, उन्हें इस योजना में सहायता राशि प्रदान की जाती हैं.
  • बच्चियों की संख्या :- इस योजना में गरीबी रेखा से नीचे आने वाले एक परिवार की 2 बच्चियों को लाभ प्रदान किया जाता है.
  • बच्चियों के जन्म की पात्रता :- इस योजना में ऐसी बच्चियां जिनका जन्म 5 जुलाई, 2010 के बाद हुआ है, उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जा रहा है. लेकिन इस योजना में जो परिवार गरीबी रेखा से नीचे के हैं उनके लिए कोई भी समय की पात्रता निर्धारित नहीं की गई है.

अटल पेंशन योजना में वृद्धों को मिलेगा 60 की उम्र के बाद आराम, जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

बेटी है अनमोल योजना में जरुरी दस्तावेज

  • आवासीय प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • बीपीएल राशन कार्ड
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक की पासबुक

बेटी है अनमोल योजना में आवेदन कैसे करें ? (How to Apply for Beti Hai Anmol Yojana ? )

  • योजना लाभ लेने के लिए लाभार्थी सबसे पहले इस आधिकारिक वेबसाइट पर जायें.
  • यहाँ योजना का विकल्प दिखाई देगा और उसके सामने एक अप्लाई बटन होती हैं जिस पर आपको क्लिक करना होताहै.
  • यदि आप इसमें पहले से यूजर हैं तो आप इसमें सीधे लॉग इन कर सकते हैं. और यदि नये यूजर हैं तो आपको पहले इसमें रजिस्टर होना होता है.
  • रजिस्टर होने के बाद जब आप इसमें लॉग इन कर लेंगे तो आपके सामने एक पीडीएफ फॉर्मेट में एक फॉर्म खुल जाता है, इसे आप डाउनलोड कर लें.
  • अब इस फॉर्म को आप सावधानी पूर्वक भरें और उसके बाद इसमें अपने सभी दस्तावेजों को अटैच करें.
  • फिर इन दस्तावेजों और साथ में फॉर्म को आप लोकमित्र केंद्र या आंगनवाड़ी सेंटर में जाकर जमा कर सकते हैं. और इस तरह से आपका इस योजना के लिए आवेदन पूरा हो जाता है.

‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ योजना से प्रभावित होकर ही हिमाचल प्रदेश सरकार ने अपने राज्य में इस योजना को शुरू करने का फैसला लिया था. अतः इसके तहत सभी बच्चियों को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित किया जाता है.

Other links –

 Posted by at 6:04 am

 Leave a Reply

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

(required)

(required)